Connect with us

Hi, what are you looking for?

केसरिया भारत: राष्ट्रीयता के पक्के रंगकेसरिया भारत: राष्ट्रीयता के पक्के रंग

अभी-अभी: घटनाक्रम

यंगिस्तान में अचानक चर्चा शुरू हो गयी कि आधा इस्तान भूखा है, पूरा इस्तान बेरोजगार है, इस्तान की लड़कियां पिंजरे की मैना है, इस्तान...

अभी-अभी: घटनाक्रम

अगर अब जीना नहीं सीख सके तो विनाश के लिए तैयार रहिए। जब विध्वंस के बाद हम गिरेंगे तो फिर हमारी खुदाई भी होगी...

अभी-अभी: घटनाक्रम

राजा भी तो राज्य की मूलभावना का प्रतिनिधित्व करता नहीं, वो राष्ट्रनीति नहीं राजनीति का अनुगामी बन गया है। राजा का आदेश बनकर जब...

Uncategorized

लेकिन अफसोस! ये टोपीकरण मतलब नवीनीकरण हमारे गाँव में ही रह गया....शायद इसलिए कि...उन्होंने वदन की यही अहमियत समझी कि हाथ काटते रहे और...

अभी-अभी: घटनाक्रम

ठीक कहा है किसी ने कि मिठास के भी कुछ साईड ईफेक्ट होते हैं! सब कुछ आरामदेह होना भी कई बार बेचैनी पैदा करता...

अभी-अभी: घटनाक्रम

धर्म को क्या पड़ी थी? आप जहां भी हो, उसी ईश्वर के लोक में हो! कुछ भी करो, उसी ईश्वर की इच्छा से कर...

अभी-अभी: घटनाक्रम

पुराने लोगों ने सोचा नहीं होगा कि उनकी अच्छाइयों को जानने वाला, जपने वाला संसार एक ऐसे समय तक जाएगा जब उसे अच्छाइयों के...

अभी-अभी: घटनाक्रम

लोग पूछते हैं कि ‘आखिर कब तक?’ कब तक लोग भूखे मरेंगे? कब तक अपराध होता रहेगा? कब तक भ्रष्टाचार का नाच होता रहेगा?...

केवल सोद्देश्य रचनात्मकता / साहित्यिक समीक्षाएं व आलोचनाएँ। प्रस्तुति एवं Copyright © 2022 Mrityunjay Mishra